Answer :

दोनों ही कविताएँ स्त्री को केंद्र में रखकर लिखी गयी है| दोनों ही कविताओं में स्त्री को जागरूक एवं सजक बताया गया है| इस कविता की पात्र जागने की बात कह रही है अर्थात् उसे अपनी आज़ादी का मोल समझ आ गया है| उसने अपने लिए ज्ञान के दरवाजे खोल लिए है वह ज्ञान का महत्व समझ गयी है| उसने अपने गहने त्याग दिए है जो उसे बंधन का आभास करा रहे थे| उसे अपनी राह पता है वह किसी पर निर्भर नहीं है| वह अब पहले की तरह कमज़ोर और लाचार नहीं है| उसने सभी कुप्रथाओं को तोडकर घर से बाहर कदम रखना सीख लिया है| इस कविता में स्त्री का क्रोध और विचारो में दृढ़ता नज़र आ रही है|


Rate this question :

How useful is this solution?
We strive to provide quality solutions. Please rate us to serve you better.
Try our Mini CourseMaster Important Topics in 7 DaysLearn from IITians, NITians, Doctors & Academic Experts
Dedicated counsellor for each student
24X7 Doubt Resolution
Daily Report Card
Detailed Performance Evaluation
caricature
view all courses
RELATED QUESTIONS :

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2