Answer :

प्रस्तुत पंक्तियों के माध्यम से लड़की की जो छवि उभर कर आती है उसमें वह बेहद मासूम एवं सरल स्वभाव की है| वह अभी समाज की हर बुराई से अनजान अपनी काल्पनिक दुनिया में मस्त रहती है जहां बस सुख का आभास होता है| उसने अभी दुख का अनुभव नहीं किया है| उसकी दुनिया उसके माता पिता तक सीमित है| वह समाज की उथल पुथल से बेखबर है| वह अपनी इस छोटी सी दुनिया में खुश है |


Rate this question :

How useful is this solution?
We strive to provide quality solutions. Please rate us to serve you better.
Try our Mini CourseMaster Important Topics in 7 DaysLearn from IITians, NITians, Doctors & Academic Experts
Dedicated counsellor for each student
24X7 Doubt Resolution
Daily Report Card
Detailed Performance Evaluation
caricature
view all courses
RELATED QUESTIONS :

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2