Answer :

लङके को बचाने के लिए बुढिया मां ने काफी उपाय किये। वह उसे झाङ-फूंक करने वाले के पास लेकर गयी। नाग पूजन और दान-दक्षिणा हेतु उसने अपने कंगन तक बेच डाले। उसने इस उपाय हेतु अपने घर का बचा-खुचा आटा अपने लङके सांप द्वारा काट लिये जाने के बाद गांव के ओझा द्वारा उसे ठीक करने की आस में लगा दिया।


Rate this question :

How useful is this solution?
We strive to provide quality solutions. Please rate us to serve you better.
Try our Mini CourseMaster Important Topics in 7 DaysLearn from IITians, NITians, Doctors & Academic Experts
Dedicated counsellor for each student
24X7 Doubt Resolution
Daily Report Card
Detailed Performance Evaluation
caricature
view all courses
RELATED QUESTIONS :

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1

NCERT Hindi - स्पर्श भाग 1