Answer :

हां, मैं लेखक की बात पूर्ण रूप से सहमत हूं। तमिलनाडु के पुडुकोट्टई जिले की महिलाओं का जीवन बेहद दर्दनाक था। अत्यंत पिछड़ी पृष्ठभूमि की महिलाएं वहां घिसी-पिटी जिंदगी बिताने पर मजबूर थीं। ये सब पुरुषों की देन थी। उन महिलाओं ने अपना पिछड़ापन भगाने तथा उस घिसी-पिटी जिंदगी से निकलने का प्रयास किया। वहां से भागने के लिए उन्होंने साइकिल का इस्तेमाल किया। इसके बाद कहीं जाकर उनका आत्म-सम्मान जागा, खुशहाली बढ़ी और उन्होंने खुद को आत्मनिर्भर बनाया।


Rate this question :

How useful is this solution?
We strive to provide quality solutions. Please rate us to serve you better.
Try our Mini CourseMaster Important Topics in 7 DaysLearn from IITians, NITians, Doctors & Academic Experts
Dedicated counsellor for each student
24X7 Doubt Resolution
Daily Report Card
Detailed Performance Evaluation
caricature
view all courses
RELATED QUESTIONS :

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

1992 <span lang="NCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3

<span lang="EN-GBNCERT Hindi -वसंत भाग 3