Answer :

बच्चे की मुसकान में स्वभाविकता, निश्छलता, सहजता, सत्यता और मधुरता होती है। उसका ह्रदय स्नेह और माधुर्य से परिपूर्ण होता है| जबकि बड़े व्यक्ति की मुसकान कृत्रिम, बनावटी एवं उद्देश्य से परिपूर्ण होती है| वह परिस्थिति एवं स्थान को देखकर अपने फायदे नुकसान को देखकर मुस्कुराता है कि कहीं कोई बुरा न मान जाए और उसका कहीं नुकासन न हो जाए| बच्चों के साथ ऐसा नहीं है वे दिल खोलकर मुस्कुराते हैं और उनकी मुसकान सच्ची होती है, उनकी मुसकान में कृत्रिमता नहीं होती, स्वार्थ नहीं होता|


Rate this question :

How useful is this solution?
We strive to provide quality solutions. Please rate us to serve you better.
Try our Mini CourseMaster Important Topics in 7 DaysLearn from IITians, NITians, Doctors & Academic Experts
Dedicated counsellor for each student
24X7 Doubt Resolution
Daily Report Card
Detailed Performance Evaluation
caricature
view all courses
RELATED QUESTIONS :

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2

NCERT Hindi - क्षितिज भाग 2