Answer :

अक्षरों के ज्ञान से पहले मनुष्य अपनी बात को दूर-दराज के इलाकों तक पहुँचाने के लिए चित्र-संकेतों का सहारा लेता था। जैसे पशुओं, पक्षियों, आदमियों आदि के चित्र। आगे चलकर इन्हीं चित्रों ने भाव-संकेतों का रूप ले लिया और मनुष्य इनके माध्यम से अपनी बात दूसरों तक पहुँचाने लगा।


Rate this question :

How useful is this solution?
We strive to provide quality solutions. Please rate us to serve you better.
RELATED QUESTIONS :

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1

NCERT Hindi -वसंत भाग 1